Bihar

हैचिंग करा गंडक नदी में छोड़े गए घड़ियाल...ग्रामीणों और स्थानीय मछुआरों के सहयोग से कराई हैचिंग...Punjabkesari TV

1 month ago

बिहार में गंडक नदी घड़ियालों का सुरक्षित ठिकाना बन गया है...;.वाइल्ड लाइफ ट्रस्ट ऑफ इंडिया की ओर से ग्रामीणों और स्थानीय मछुआरों के सहयोग से सैकड़ों घड़ियाल की हैचिंग कराने के बाद उन्हें गण्डक नदी में छोड़ा गया, जिसके बाद घड़ियालों की संख्या बढ़कर तकरीबन 500 पहुंच गई है...;.वाइल्ड लाइफ ट्रस्ट ऑफ इंडिया के मुताबिक गण्डक नदी घड़ियालों के लिए एक बेहतर अधिवास साबित हो रहा है...;आपको बता दें कि साल 2016 से लेकर अब तक वाइल्ड लाइफ ट्रस्ट ऑफ इंडिया और वन एवं पर्यावरण विभाग बिहार की तरफ से घड़ियाल के 350 से ज्यादा अंडों को संरक्षित कर उसका हैचिंग कराया जा चुका है... लिहाजा वाल्मीकि नगर से सोनपुर तक घड़ियालों की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है... वाइल्ड लाइफ ट्रस्ट ऑफ इंडिया के अधिकारी सुब्रत बहेरा ने बताया कि गंडक नदी किनारे पता कर पाना मुश्किल होता है कि घड़ियालों ने रेत में कहां अंडा दिया है...जिसके लिए WTI और फारेस्ट डिपार्टमेंट ने स्थानीय ग्रामीणों और मछुआरों को प्रशिक्षित किया और अंडों के संरक्षण और उसके प्रजनन का गुर सिखाया...यही वजह है कि साल 2022 में गंडक नदी किनारे वाल्मीकि नगर से रतवल पुल तक 5 जगह घड़ियालों के अंडे मिले...जिसे मछुआरों ने संरक्षित किया और फिर उसका हैचिंग कराया गया....

NEXT VIDEOS